EducationArariaBiharState

इस बार भी पाई शिक्षण संस्थान रहा अब्बल, भरत अग्रवाल ने 98%, प्रीतम भगत 97%, लिजा बैद 96% लाकर स्कूल का नाम किया रौशन

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शुक्रवार को 12वीं कक्षा के परीक्षा परिणाम घोषित किए जिसमें पाई शिक्षण संस्थान के छात्रों ने हर वर्ष की भाँति इस बार भी अररिया जिला में परचम लहराया है।

पाई शिक्षण संस्थान फारबिसगंज हर वर्ष किसी न किसी कीर्तिमान को स्थापित करने में अग्रसर रहता है। पिछले वर्ष भी कोरोना विश्वव्यापी महामारी के बाद प्रशंसनीय भूमिका में रही। आज पुनः दसवीं के परिणाम में भरत अग्रवाल ने (97.6% ), प्रीतम भगत ( 96.6% ) तथा लिजा बैद (95.4%) लाकर अपने पाई वर्ल्ड स्कूल का भी नाम ऊंचा किया।

विद्यालय में अध्ययनरत कुल 37 बच्चों में से 90 प्रतिशत से ऊपर 10 बच्चे ( भरत अग्रवाल, प्रीतम कुमार भगत, लिजा वैद, निष्ठा जैन, अमन जैन, तनु नौलखा, सोनल बोथरा, मनीष अग्रवाल, अफसर सौद, हर्षित अग्रवाल, ) 80 प्रतिशत से अधिक 12 बच्चे ( चैरी बोथरा, साक्षी राज, कसिस गुप्ता, ऋषभ आर्यन, काव्यमसेठिया, जीशान आलम, यस राज, यश बोथरा, कनक कुमारी, सिद्धि अग्रवाल, अमित आनंद एवं शालिनी कुमारी), 70 से 80 प्रतिशत के बीच 6 बच्चे (नीति जैन, पुष्कर सेठिया, मयंक अग्रवाल, ऐलिस गुप्ता, रुसद अनवर, दिव्या अग्रवाल ) ने अंक प्राप्त करके स्कूल का नाम रौशन किया।

President Election 2022: भारत में राष्ट्रपति का चुनाव कैसे होता है? जानें पुरा तरीका…

वहीं विद्यालय का ओसत परिणाम 86% रहा। ये सभी बच्चे स्कूल का अपने माता-पिता का गौरव है प्रसन्नता भरे क्षण में विद्यालय के निदेशक कार्तिक सिंह ने विद्यालय आकर बच्चों को रामधारी सिंह दिनकर की लिखी चार पंक्ति वसुधा का – नेता कौन हुआ? भूखण्ड – विजेता कौन हुआ ? अतुलित यश क्रेता कौन हुआ ? नव धर्म प्रणेता कौन हुआ? जिसने न कभी आराम किया, विघ्नों में रहकर नाम किया। कह कर उत्साह वर्धन करते हुए केक काटा और बच्चों के बीच चॉकलेट भी बंटवाए।

पाई शिक्षण संस्थान (Pie World School forbesganj)

प्रधानाचार्य डॉकलीन सेम ने सभी बच्चों को अभिभावकों और अध्यापकों को बधाई दी और सभी बच्चों को जीवन में इसी तरह आगे बढ़ने की प्रेरणा दी। वहीं उप प्रधानाचार्या राखी डागा (संस्कृत) ने सभी बच्चे व शिक्षकों को बधाई दी साथ ही बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की।

वहीं शिक्षक गण गोकुल नायक ( अंग्रेजी), नायक मेम (अर्थशास्त्र, नागरिक शास्त्र ), आशुतोष प्रसाद (इतिहास भूगोल), सौरव झा (जीव विज्ञान, रसायन शास्त्र, पिंटू मिश्रा ( गणित ), सरवर आलम (भौतिकी) , आदित्य भारद्वाज (हिन्दी) ने सभी बच्चों को ढेर सारा आशीष प्रदान करते हुए कहा कि आप सभी बच्चे आगे भी सदैव नाम गौरव करते रहोगे। बच्चे शिक्षकों के प्रति कृतज्ञता ज्ञापन करते हुए कहा कि एक गुरु का ऋण शिष्य कभी नहीं उतार सकता है। जिस प्रकार मंदिर में प्रतिमा का पूजन होता है, परंतु महत्व उस प्रतिमा को गढ़ने वाले का होता है।

आप की अदालत में चर्चित सवर्ण नेता तथा राजपा सुप्रिमों आशुतोष कुमार को बुलाने की उठी मांग, जानें

पाई क्लासेस फरबीसगंज

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button