CrimeArariaBiharState

आरती – छोटू केस में आया नया मोड़, सारे हदें पार करने वाली हैं आरती, जाने आरती और छोटू की प्रेम कहानी के हकीकत

रानीगंज थाना मर्डर केस: बिहार के अररिया जिले के रानीगंज थाना क्षेत्र में आरती और छोटू की प्रेम कहानी (chotu arti case) के चलते एक युवक छोटू यादव की हत्या का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है. लड़के की हत्या का आरोप लड़की के परिवार पर है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बताया जा रहा है कि उन्होंने लड़के को धोखे से बुलाकर मार डाला.

आरती और छोटू की प्रेम कहानी (Chotu Arti Love Story)

वारदात को लेकर हैरानी इसलिए जताई जा रही है, क्योंकि लड़की मृतक युवक छोटू यादव से दो साल से मिली भी नहीं थी और अब वह कथित रूप से उसकी विधवा बनकर उसी के घर में रह रही है. लड़की आरती का कहना है कि लड़के का घर ही उसका ससुराल है. उसका दावा है कि मृतक के मां-बाप अब उसे (यानी लड़की को) अपना बेटा मानते हैं.

आरती और छोटू की प्रेम कहानी (Chotu Arti Love Story)

आपको बताऊँ अररिया के रानीगंज थाना क्षेत्र में दो गांव हैं, बड़ौवा और रहरिया. दोनों युवक-युवती (aarti chotu ki kahani) के गांवों के बीच 35 किलोमीटर की दूरी है. बड़ौवा के धीरेंद्र यादव की 19 साल की बेटी आरती और रहरिया गांव के छोटू यादव जिसका उम्र 22 साल है के बीच काफी समय से फोन पर बातचीत होती थी. बताते हैं कि छोटू का नाना का घर आरती के घर के बगल में था और आरती का भाई छोटू से परिचित भी था जिस वजह से आरती और छोटू के बीच भी बातचीत शुरू हो गई. खबर के मुताबिक धीरे-धीरे दोनों में प्यार हुआ और बात शादी तक पहुंच गई. दिलचस्प बात ये कि ये सब फोन पर ही हुआ. आरती कभी छोटू से मिली नहीं. जब उन्होंने आरती से मिला तो वो समय दोनो का अंतिम मिलन था।

धोखे से बुलाया और छोटू को मार डाला

आरती ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उसके परिवार वालों को दोनों के संबंध की बात पता चल गई थी. पहले घरवालों ने इसका काफी विरोध किया, फिर बीती 5 जुलाई को कहा कि दोनों की शादी करा देंगे, लेकिन पहले छोटू को बात करने के लिए घर बुलाओ. इस पर आरती ने छोटू को फोन करके घर बुला लिया. जब छोटू आरती के घर पहुंचा तो यहां पर छोटू के भाई ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया. आरोप है कि इसके बाद आरती का भाई, पिता और जीजा उसे पीटने लगे. इस दौरान आरती को घरवालों ने दूसरे कमरे में बंद कर दिया.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसी बीच किसी तरह आरती (arti and chotu news) ने छोटू की बहन को फोन कर पूरी घटना बता दी. अगले दिन सुबह छोटू के गांव के काफी लोग आरती के गांव में जाकर उसके घर के बाहर इकट्ठा हो गए. इतनी भीड़ देखकर आरती के घरवाले घबरा गए. इस बीच गुस्साए गांव वाले दरवाजा तोड़कर घर में घुस गए. उन्हें देखकर आरती के घरवाले घर के पिछवाड़े से निकलकर भाग गए.

आरती से मिलने पप्पू यादव भी पहुँचे

Pappu yadav in chotu yadav murder

छोटू आरती प्रेम कहानी का अंजाम छोटू यादव का मृत्यु (chotu yadav murder) से हुआ। मामले का सूचना मिलते हीं अररिया के संसद प्रदीप सिंह पहुँचकर आरती को हिम्मत दिया। वहीं पप्पू यादव ने भी रानीगंज पहुँचकर प्रेमी आरती का ढांढस बढ़ाया। पप्पू यादव ने रानीगंज से दहाड़ते हुए आरती को न्याय दिलवाने का वादा किया। वहीं बिहार और झारखंड के सबसे बड़े और नंबर 1 न्यूज़ चैनल सच तक के लोकप्रिय पत्रकार मनीष कश्यप भी इसकी रिकॉर्डिंग करने पहुँचे।

छोटू आरती से जुड़े सभी ख़बर के लिए क्लिक करें

Honor Killing : प्रेमिका को प्रेमी के स्वजनों ने दिया सहारा, बोले- तुम मेरी बेटी हो, अररिया के इस प्रेम कहानी को सुनकर सभी दुखी… 

छोटू के नाखून तक उखाड़ लिए

क्राइम तक की रिपोर्ट के मुताबिक हंगामे के दौरान वहां मौजूद रहे कुछ लोगों ने बताया कि आरती के घरवालों ने छोटू के नाखून तक उखाड़ लिए थे. उसके हाथ-पैर टूटे हुए थे. और जिस्म पर जलने के काले निशान थे. रिपोर्ट के मुताबिक वहां फर्श पर एक बिजली का नंगा तार भी नजर आया. इसके बाद छोटू को उठाकर अस्पताल पहुंचाया गया. वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

इस दौरान आरती छोटू के शव के पीछे-पीछे अस्पताल पहुंच गई. उसने लोगों को बताया कि उसके भाई, पिता और जीजा ने छोटू की हत्या की है. इसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. हालांकि आरती का जीजा फरार है.

आरती का वो फैसला जिसने लोगों का हैरान कर दिया
आजतक से जुड़े शम्स ताहिर खान के मुताबिक छोटू का पोस्टमार्टम होने के बाद जब उसके शव को उसके पिता अपने गांव ले जाने लगे तो आरती ने छोटू के अंतिम संस्कार में जाने की बात कही और उनके साथ ही चल दी. यहां तक कि उसने छोटू के साथ चिता में जलने की भी जिद ठान ली. बड़ी मुश्किल से लोगों ने आरती को समझाया.

छोटू के अंतिम संस्कार के बाद आरती ने एक बड़ा फैसला लिया. उसने कहा कि वो अब उस घर में कभी नहीं जाएगी, जहां उसके घरवालों ने छोटू को मार डाला. अब वह ताउम्र उसकी ‘विधवा’ रहेगी. छोटू के पिता उमेश यादव ने भी सारे गांव के सामने आरती को अपने घर में रखने की बात कही. उसके बाद छोटू के पिता आरती को लेकर प्राइवेट नर्सिंग होम में गए वहां उसका इलाज करवाया. और इलाज करवाने के बाद उमेश आरती को अपने घर ले आए.

वायरल हुआ था आरती सोनू के बीच का आखिरी कॉल रिकॉर्डिंग

chhotu yadav aarti call recording

आपको बताएं दोनो का आखिरी कॉल रिकॉर्डिंग (chotu arti call recording) भी जम कर वायरल हुआ है। छोटू के मौत से एक दिन पहले का कॉल रिकॉर्डिंग बताया जा रहा है। कॉल रिकॉर्ड में आपको उनके सच्चे प्यार के बारे में अंदाजा लग जायेगा। छोटू दूसरे दिन घर पर आने की बात कहता है।

इस बीच दोनों में क्‍या खाना खाए इसकी चर्चा की। पार्ट टू की परीक्षा कैसा गया, इस बारे में छोटू ने आरती से पूछा है। ऑडियो सुनकर यह स्‍पष्‍ट हो रहा है आरती काफी डरी हुई है। छोटू शादी के लिए घर वालों से बात करने के लिए आरती से कहता है। आरती और छोटू का प्यार मर्यादा भरा रहा।  आप छोटू – आरती कॉल रिकॉर्डिंग नीचे दिये गए ऑडियो फाइल से सुन सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट तक जायेगी आरती

आरती छोटू प्रेम कहानी अजीब मोड़ ले लिया। छोटू के हत्या के बाद आरती पूरी तरह से बौखला गयी है। उसको बार बार कई परेशानी का सामना करना पड़ता है। आरती ने छोटू को न्याय दिलाने का संकल्प ले रखी है। आरती कई बार कह चुकी है की छोटू के के हत्यारे और आरती के परिवार को जेल की चक्की और छोटू के मौत का खामियाजा भुकतना पड़ेगा। आरती छोटू को न्याय दिलाने के लिए हाई कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक का दरवाजा खटखटायेगी।

रानीगंज थाना मर्डर केस : छोटू और उसकी प्रेमिका आरती का ऑडियो वायरल, प्रेमी की हत्या के एक दिन पहले का Call Recording…

Related Articles

2 Comments

  1. प्यार मोहब्बत का यही अंजाम होता है जवानी के जोश में संयम खो कर अमर्यादित कर्म करते हैं, सोचते हैं कि बॉलीवुड और हॉलीवुड के लोग कर रहे है तो हम क्यूँ नहीं कर सकते हैं। ये बॉलीवुड वाले बिकनी पहन ले या नशे में हो तो ये लोग भी वहीं करे ge।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button